सविता का शिव

ऑफिस से बड़े बाबू कैलाश शर्मा के अचानक हार्ट फेल से मृत्यु की सूचना ने उनकी वृद्धा माँ और एकमात्र बेटी सविता पर वज्रपात कर दिया. बेटे के निधन की सूचना से वृद्धा माँ हाहाकर कर उठी, भगवान् ने…

डेविड अंकल

पिछले कुछ दिनों से मौसम खुशगवार होगया था. छुट्टी के दिन सुनहरी धूप में लोग अपने-अपने अपार्टमेंट्स से बाहर निकल कर धूप सेंकने का आनंद ले रहे थे. अंकल डेविड भी अपनी आराम कुर्सी पर बैठे बाहर आते…

अंकिता

अर्पित को स्कूल जाता देखते ही घरों से औरतें बाहर निकल आई थीं. अर्पित के स्कूल का रास्ता उसके पुराने बंगले के सामने से हो कर जाता था.“कहो, बेटा, तुम्हारी मम्मी वापिस आई या नहीं?’ “हाय-हाय कैसी निर्दयी…

उसका आकाश

अभी सूर्योदय पूरी तरह से नहीं हुआ था, उषा की लालिमा से रंगे आकाश को सूर्य की रश्मियां भेद कर धरती पर आने का प्रयास कर रही थीं. पिता के अस्वस्थ होने के कारण सजल को उनके स्थान…

जॉन की गिफ़्ट

अमेरिका का वो पूरा शहर क्रिसमस की रोशनी से जगमगा रहा था. रंग-बिरंगे वस्त्रों में उत्साहित लोग शौपिंग के लिए निकल पड़े थे. चारों तरफ खुशियाँ बिखरी हुई थीं. सड़कों से ले कर घरों तक पर रंगीन विद्युत…

मनमीत

गरमी की छुट्टियों के बाद आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय खुला था. उत्साहित युवा लड़के- लड़कियां हंसते-मुस्कुराते अपने-अपने विभागों की ओर जारहे थे. नए विद्यार्थी दादा टाइप युवकों की अपने ऊपर की गई मजाकिया टिप्पणियों से कुछ डरे हुए अपना…

कैसी हो निक्की

डोर-बेल पर निकिता ने दरवाज़ा खोला था.शाम केधुंधलाते प्रकाश में उस लंबे व्यक्ति को पहिचान पाना कठिन था. एक स्नेहिल आवाज़ सेनिकिता के सर्वांग झनझना उठे. “कैसी हो निक्की? पहिचानामुझे, मै रॉबिन.”हलकी सी खुशी आवाज़ में स्पष्ट थी….