अंकिता

अर्पित को स्कूल जाता देखते ही घरों से औरतें बाहर निकल आई थीं. अर्पित के स्कूल का रास्ता उसके पुराने बंगले के सामने से हो कर जाता था.“कहो, बेटा, तुम्हारी मम्मी वापिस आई या नहीं?’ “हाय-हाय कैसी निर्दयी…