उसका आकाश

अभी सूर्योदय पूरी तरह से नहीं हुआ था, उषा की लालिमा से रंगे आकाश को सूर्य की रश्मियां भेद कर धरती पर आने का प्रयास कर रही थीं. पिता के अस्वस्थ होने के कारण सजल को उनके स्थान…